सुदर्शन

हस्तिनापुर में होली (हास्य-व्यंग्य, कार्टून)

Posted by K M Mishra on February 26, 2010

यह व्यंग्य लेख एक दूसरी साईट पर ट्रान्सफर कर दिया गया है.पढने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें.

 

हस्तिनापुर में होली

3 Responses to “हस्तिनापुर में होली (हास्य-व्यंग्य, कार्टून)”

  1. sonal rastogi said

    बहुत खूब आधुनिक परिवेश में हस्तिनापुर वह आनंद आया

  2. भाई साहब, हँसे जा रहे हैं…क्या गजब लिखा है आपने.

    वैसे होली के मौके पर एक शिकायत भी कर देते हैं आपसे. इतने दिनों तक कहाँ थे आप? अब आये हैं तो गायब मत हो जाइएगा. प्लीज.

  3. तो यह आँखों देखा हाल सुना रहे थे …ना…ना… संजय नहीं, उनका तो तब अता-पता ही नहीं था, वो तो महाभारत की कमेण्ट्री के लिए हायर किए गये थे। यह हाल तो माखनचोर नन्दलाल स्वयं लिख दिए हैं… अरे वही जिसे आप कृष्ण के नाम से जानते हैं। पूरा नाम है “कृष्ण मोहन”। इस कलियुग में आकर अपने को बिरहमन बताने के लिए मिश्रा जोड़ लिये हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: