सुदर्शन

51 घंटे की लंबी मुठभेड़ के बाद मारा गया डाकू (व्यंग्य /कार्टून)

Posted by K M Mishra on June 19, 2009

=> रात भर सोहर गायेन, सवेरे देखें तो बेटवा के औजारे नाही/खोदा पहाड़ निकली चुहिया ।  400 पुलिस वाले,  51 घंट लंबी मुठभेड़, चार पुलिस वाले शहीद हुए और दर्जन भर जख्मी हुए और मारा एक डकैत । शाबाश ।

बेवजह मार डाला बेचारे घनश्याम केवट को । इतने काबिल और होनहार डकैत को जिदा पकड़ना चाहिए था । जो डाकू 51 घंटे तक अकेले एक मामूली राइफल से 400 पुलिस के जवानों को नचा सकता था वो उन्हीं पुलिस वालों और एन.एस.जी. के कमांडो को कमांडो ट्रेनिंग भी तो दे सकाता था ताकि फिर कभी मुंबई हमलों जैसे बड़े आतंकी हमले देश को न भुगतने पड़ें । इतने होनहार, वीर, लड़ाके को बेवजह मार गिराया । डाकू तो हर कहीं भरे पड़े हैं । थानों में, प्रशासन में, शिक्षा व्यवस्था में, स्वास्थ्य विभाग में, विधान सभाओं, ससंद में, कहां नहीं है डाकू । हर जगह, हर विभाग में, हर स्तर का डकैत आपको मिल जायेगा । मेरा सरकार को एक अमूल्य सुझाव है, कृपया गौर फरमायें, चंबल, चित्रकूट और दूसरी डाकूओं की नर्सरी वाले इलाकों से मंजे-मंजाये डाकू शार्ट सर्विस कमीशन पर भर्ती करलें और इनको पाकिस्तान एक्सपोर्ट कर दें अपनी बहादुरी दिखाने के लिए । पाजी पड़ोसी हमें आये दिन फिदाईन लड़ाके भेंट करता रहता है । उसको भी हमारी तरफ से प्रेम पूर्वक दिये गये तोहफों पर नाज़ होना चाहिए कि नहीं ।

कमांडो

10 Responses to “51 घंटे की लंबी मुठभेड़ के बाद मारा गया डाकू (व्यंग्य /कार्टून)”

  1. अरे, मर ही गया बेचारा। इसे तो परमवीर चक्र मिलना चाहिए।

    -Zakir Ali ‘Rajnish’
    { Secretary-TSALIIM & SBAI }

  2. टाईम्स ऑफ़ इंडिया में ५०० पुलिस वाला लिखा था.

    लगता है गब्बर सिंह था.

    3०० के बन्दूक ख़राब थे.
    १५० से पेट और बन्दूक दोनों साथ नहीं संभल रहे थे.
    ४० की उस डकैत से सहानुभूति थी
    १० में ४ मारे गए.
    बाकी बचे ६ जिसमे ३ आफीसर थे.
    उन्ही ३ ने उसे मारा…………………….शायद !!!!!!

    सही कहा ना..

  3. K M Mishra said

    कौतुक भाई, मैने भारत के सबसे अधिक बिकने वाले अखबार दैनिक जागरण से आंकड़े लिये थे । अब चाहे 400 पुलिसवाले हों या 500 लेकिन इनकी दिलेरी और दिमागी कूबत तो जगज़ाहिर हो ही गई ।

  4. Dileree par shak nahee hai, nahee to we chaar bhee nahee marte. haan kuwwat aur planning to jabardasht rahee.

  5. sharad shukla said

    chalo itne der mein ek to mara gaya….ye to wahi baat ho gayi.itne der se patthar mara ek na ek aam to girega hi.marte jao patthar dekho ek na ek daku aur girega…….kyo

  6. sharad shukla said

    ab to sabse sahi naukri daaku ki hi hai.kam se kam aao luto aur nikal lo….koi kuch nhi kar payega.

  7. sajal kumar said

    ase bhadur admi ka delhi me samark banana chahiye, samark par uski jivan gatha bhi likhani chahiye. sajal kumar,(v&p.o. budain distt.jind haryana)

  8. Thank you for another awesome post. Keep rocking.

  9. I visited a lot of website but I think this one contains something extra in it in it

  10. I do believe all of the concepts you’ve presented in your post. They’re really convincing and will certainly work. Still, the posts are too short for starters. Could you please extend them a little from next time? Thanks for the post.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: