सुदर्शन

मनमोहन सिंह की वफादारी (व्यंग्य, कार्टून)

Posted by K M Mishra on May 13, 2009

”सिख समाज 84 के दंगों को भूल जाए । इस मामले का पटाक्षेप हो चुका है ।                                                                                              – प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ।

=> ठीक ही कह रहे हैं मनमोहन सिंह जी आप, पर उपदेश कुशल बहुतेरे । चुनाव के वक्त कांग्रेस मुस्लिम संवेदनाओं को उभाड़ने के लिए गुजरात दंगों की माला जपने लगती है लेकिन 84 के दंगों के प्रतापी कांग्रेसी वीर जगदीश टाइटलर और सज्जन सिंह को निर्दोष साबित करने के लिएं सी.बी.आई. उन्हें क्लीनचिट दे देती है । सिख हो कर भी आप सिख समुदाय का दर्द नहीं समझ पा रहे हैं । सच्चा कांग्रेसी बनने के लिए क्या इस हद तक संवेदनहीन होना पड़ता है ।

3 Responses to “मनमोहन सिंह की वफादारी (व्यंग्य, कार्टून)”

  1. सही कह रहे है एक सज्जन आदमी को तंग नही करना चाहिये और सिख समुदाय के साथ पूरे देश को उनसे माफ़ी मांगकर उन्हे इस महान का्र्य के लिये सरोपा भेट करना चाहिये .ताकी वो बाकियो के सर धड से अलग कर सके

  2. Luz said

    I wanted to say that it’s wonderful to know that somebody else also pointed out this as I had trouble finding the same info somewhere else. This was the first place that told me the answer. Many thanks. Best wishes, Luz.

  3. […] As the economy continues to fluctuate, more and more human beings are realizing the importance of investing in and starting a business. Not everyone is able to realize that goal, though. The most common challenge that gets in their path is the lack of capital to commence the business they desire. More information: click here […]

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: